hindi, Poetry, without you

“लौट आओ, अब नहीं करूँगा तंग”

सिर्फ मैं नहीं ..अब तो मेरा इंतज़ार भी है गुमसुम.....................

Advertisements